आगरा के DIOS मनोज कुमार 2 घन्टे रहे हिरासत में

आगरा के DIOS मनोज कुमार 2 घन्टे रहे हिरासत में, हाई कोर्ट ने अल्पसंख्यक कॉलेज के मामले में नाराजगी जताते भेजा हिरासत में, AD के आश्वासन पर छूटे
आगरा के जिला विद्यालय निरीक्षक मनोज कुमार को इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर गुरुवार दो घंटे हिरासत में रहना पड़ा। उनपर चार याचिकाएं मंजूर होने के बाद भी अल्पसंख्यक कॉलेज के छह सहायक अध्यापकों व एक प्रवक्ता का वेतन भुगतान न करने का आरोप था। कोर्ट ने अपर शिक्षा निदेशक और अपर महाधिवक्ता के आश्वासन पर छोड़ा। मामले की सुनवाई जस्टिस सुनीत कुमार कर रहे थे।

ये था मामला
अहमदिया हनफिया इंटर कॉलेज की प्रबंध समिति के अधिवक्ता वशिष्ठ तिवारी ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि अल्पसंख्यक विद्यालय में छह सहायक अध्यापक कों व एक प्रवक्ता की नई नियुक्ति हुई थी, लेकिन उन्हें वेतन भुगतान नहीं किया जा रहा था। प्रबंध समिति ने वेतन भुगतान के हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की।

कोर्ट ने वेतन भुगतान का आदेश दिया, लेकिन आदेश का अनुपालन नहीं हुआ। कोर्ट ने डीआईओएस को तलब किया और उन्हें आदेश के अनुपालन का अवसर दिया तो उन्होंने प्रबंध समिति का प्रत्यावेदन निरस्त कर दिया। इसके बाद फिर याचिका और उस पर आदेश हुआ तो पुराना आदेश वापस ले लिया गया। इसके बाद भी वेतन भुगतान नहीं किया गया।

अपर शिक्षा निदेशक के आश्वासन पर छोड़ा

एडवोकेट वशिष्ठ तिवारी ने बताया चार याचिकाएं मंजूर होने के बाद भी शिक्षकों को वेतन भुगतान नहीं किए जाने पर कोर्ट ने डीआईओएस को गुरुवार को फिर तलब किया था। उन्होंने कोर्ट को बताया कि उप मुख्यमंत्री के निर्देश के कारण वेतन भुगतान नहीं किया गया है। कोर्ट ने मामले को गंभीरता से लेते हुए डीआईओएस को हिरासत में लेने का निर्देश दिया। इसकी जानकारी पाकर अपर शिक्षा निदेशक डॉ महेंद्र देव अपर महाधिवक्ता व मुख्य स्थायी अधिवक्ता के साथ पहुंचे और कोर्ट को आश्वासन दिया कि शुक्रवार को दोपहर एक बजे तक वर्तमान और 23 सितंबर तक एरियर का भुगतान कर दिया जाएगा। इस आश्वासन पर कोर्ट ने डीआईओएस को छोड़ दिया।

संवाददाता : डॉ मनोज गुप्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.