अयोध्या में आयोजित अखिल भारतीय महापौर परिषद के दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का हुआ समापन

आगरा। अयोध्या में आयोजित अखिल भारतीय महापौर परिषद के दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का आज समापन हो गया। आज सोमवार सुबह आयोजित हुए समापन सत्र में मुख्य अतिथि के रुप में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय मौजूद रहे। उन्होंने राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए पिछले 500 सालों से किए गए प्रयासों के बारे में प्रकाश डाला। चंपत राय ने कहा कि भारत के इतिहास में राम जन्म भूमि का आंदोलन आत्मसम्मान और हक के लिए संघर्ष की प्रेरणा देता है जिससे कि आने वाली पीढ़ियों के रक्त में आत्मसम्मान, राष्ट्रीयता और भारतीय संस्कृति का संचार होगा।

राम मंदिर आंदोलन के महान मनीषी चंपत राय ने बैठक में उपस्थित विभिन्न राज्यों के महापौर को संबोधित करते हुए कहा, ‘हिंदुस्तान की जनता में इतना जोश है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सुप्रीम कोर्ट से रास्ता साफ होने के बाद भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए मात्र 40 दिन के भीतर 3200 करोड रुपए की धनराशि एकत्रित कर राम जन्मभूमि के खाते में डाली गई। उन्होंने कहा कि 2023 तक राम मंदिर निर्माण कार्य को हर हाल में पूरा कर लिया जाएगा। आने वाले समय में अयोध्या धर्म नगरी के रूप में पहचानी जाएगी और करोड़ों हिंदुओं के आस्था का केंद्र बनेगी।

वहीं महापौर परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन जैन ने दो दिवसीय बैठक में लिए गए निर्णय और आपसी विचार विमर्श के उपरांत उद्बोधन देते हुए कहा कि मानव जीवन को शुद्ध वायु, शुद्ध जल और शुद्ध वातावरण मिल सके, इसके लिए देश भर के सभी नगर निगमों में जन सहयोग के माध्यम से हरित घर, हरित नगर, हरित मार्ग एवं हरित गली की अवधारणा को सफल बनाने के लिए जन आंदोलन चलाया जाएगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन जैन ने बताया कि डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार भारत में एक व्यक्ति पर औसतन 428 पेड़ होनी चाहिए जबकि केवल एक व्यक्ति पर 24 पेड़ है जो की चिंता की बात है। हमें शुद्ध पर्यावरण और शुद्ध ऑक्सीजन चाहिए तो ज्यादा से ज्यादा संख्या में पेड़ पौधे लगाने होंगे। अगर आगे आने वाली पीढ़ी को सुरक्षित भविष्य देना है तो हमें अपने शहर को हरियाली युक्त बनाना होगा। देश के सभी महापौरों के समक्ष चिंता प्रकट करते हुए नवीन जैन ने कहा कि अगर ऐसे ही पेड़ पौधों का कटान जारी रहा तो पर्यावरण असंतुलित हो जाएगा।

महापौर परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन जैन ने कहा कि हमें मानव जाति के विनाश को बचाने के लिए हरियाली को हर हाल में अपनाना पड़ेगा। समय कम है, युद्ध स्तर पर काम करने की आवश्यकता है। जहां राज्य सरकार है और नगर निगम अच्छी दिशा में अच्छा काम कर रही है तो वहीं अब प्रत्येक नागरिक को भी जागरूक बनाना पड़ेगा। सभी महापौर संकल्प लें और अपने-अपने शहरों में हरियाली विकसित करने का अभियान चलाएं।

अंत में महापौर परिषद द्वारा यह निर्णय लिया गया कि जिन राज्यों में 74वां संशोधन लागू नहीं हुआ है, वहां लागू कराने के लिए शीघ्र ही महापौर परिषद देश के आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौंपेगी। इसके अलावा अखिल भारतीय महापौर परिषद की अगले वर्ष होने वाली बैठक के लिए पुणे (महाराष्ट्र), नागपुर (महाराष्ट्र), अहमदाबाद (गुजरात), बड़ौदा (गुजरात), हैदराबाद, जम्मू कश्मीर, चंडीगढ़ (पंजाब), ऋषिकेश (उत्तराखंड) के महापौर ने अपने यहां बैठक कराने का प्रस्ताव दिया है। महापौर परिषद कार्यसमिति आगामी दिनों में इसकी समीक्षा करके अगले वर्ष होने वाले राष्ट्रीय सम्मेलन के लिए जगह का चुनाव करेगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन जैन ने अयोध्या में हुए सफल आयोजन के लिए सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया।

नगर निगम अयोध्या के महापौर और कार्यक्रम संयोजक महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने सभी महापौर को स्मृति चिन्ह एवं प्रसाद प्रदान करते हुए अपने संबोधन में कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन जैन ने देश के सभी महापौरों की बैठक अयोध्या धाम में आयोजित कराने का जो अवसर दिया, उसके माध्यम से सेवा करने का अवसर प्राप्त हुआ, इसके लिए वे हमेशा आभारी रहेंगे।

राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन जैन ने अयोध्या में घोषित की महापौर परिषद की नवीन राष्ट्रीय कार्यकारिणी

राष्ट्रीय अध्यक्ष – नवीन जैन, आगरा महापौर
राष्ट्रीय महामंत्री संगठन – उमाशंकर गुप्ता, पूर्व मंत्री, एमपी
वरिष्ठ उपाध्यक्ष – रेनू बाला गुप्ता, करनाल महापौर
उपाध्यक्ष – 1 – केयूर एन रोकडिया, वडोदरा महापौर,
2 – मुरलीधर कृष्णराव, पुणे महापौर
3- करमजीत सिंह, अमृतसर महापौर
सचिव – 1- विजयलक्ष्मी गडवाल, हैदराबाद महापौर
2- एज़ाज़ देवार, रायपुर महापौर
3- रायना भाग्यलक्ष्मी, विजयवाड़ा महापौर
कोषाध्यक्ष – चंद्रमोहन गुप्ता, जम्मू महापौर
कार्यकारी सदस्य – 1 – मुकेश सूर्यन, साउथ दिल्ली महापौर
2- किशोरी पेंडेंकर, मुम्बई महापौर
3- आर्य राजेंद्रन एस., तिरुवनंतपुरम महापौर
4- रविकांत शर्मा, चंडीगढ़ महापौर
5- फिरहाद हाकिम, कोलकाता महापौर
6- सीता साहू, पटना महापौर
7- सत्या कुंदल, शिमला महापौर
8- आशा लाकरा, रांची महापौर
9- सुनील गामा, देहरादून महापौर
10- वनिता सेठ, जोधपुर साउथ महापौर
11- दया शंकर तिवारी, नागपुर महापौर
12- रोहित मोंसेर्राटे, पणजी महापौर
13- अभिलाषा गुप्ता, इलाहाबाद महापौर
14- परमानंद शेट्टी, मंगलौर महापौर
15- संजीव शर्मा बिट्टू, पटियाला महापौर
16- मंजू मेहरा, कोटा महापौर
17- शक्ति सिंह, गंगटोक महापौर
18- डॉ. प्रफुल्ल जीत सिन्हा, अगरतला महापौर
19- उमेश गौतम, बरेली महापौर
20- अनीता ममगाई, ऋषिकेश महापौर
21- सोरम सुनील, इंफाल महापौर

स्थायी सक्रिय सदस्य –
1- विवेक एन शेज़वाकर, सांसद ग्वालियर
2- अनिल मधुकर सोल, पूर्व विधायक महाराष्ट्र
3- आशुतोष वार्ष्णेय, पूर्व महापौर अलीगढ़
4- कवींद्र गुप्ता, पूर्व डिप्टी सीएम एवं स्पीकर जम्मू कश्मीर
5- सुनील सोनी, सांसद रायपुर

संवाददाता : डॉ मनोज गुप्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.